section and everything up till
* * @package ThemeGrill * @subpackage ColorMag * @since ColorMag 1.0 */ // Exit if accessed directly. if ( ! defined( 'ABSPATH' ) ) { exit; } ?> स्वामी विवेकानंद मेरे सपनों का भारत- सरल संवाद

स्वामी विवेकानंद मेरे सपनों का भारत-

**🏵️ऐसा है स्वामी विवेकानंद के *सपनों का भारत*🏵️
मेरे आराध्य गुरु स्वामी विवेकानंद जी के 158 वे जन्म दिवस के अवसर पर मेरा शत-शत नमन 🙏🏻
स्वामी विवेकानंद जयंती का दिन 12 जनवरी राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में देशभर में मनाया जाता है! स्वामी विवेकानंद की जयंती पर जानिए, सूर्य नमस्कार से लेकर कैसे भारत की कल्पना करते हैं स्वामी विवेकानंद।

युवा, देश का आज और कल
युवा शक्ति को जाग्रत करके ,एक मजबूत राष्ट्र निर्माण होता है
ऐसे में निरंतर प्रगति के पथ निर्माण में युवाओ का साथ प्रिय है
समय पर मार्गदर्शन और सम्मान से युवा वर्ग प्रेरित होता है, अग्रसर होता है राष्ट्र निर्माण पथ पर

सपनों का भारत
एक ऐसा भारत जहाँ किसी भी उम्र के भारतीय हो उनके अंदर का युवा जिंदा हो
आपनी आत्मा से राष्ट्र निर्माण में सहभागी बने,
65 प्रतिशत की आबादी का युवा और हर किसी के अंदर का युवा भारत को विकसित देश ही नहीं, बल्कि समूचे विश्व के सर्वोच्च पायदान पर हमेशा के लिए मुकुट में मणि की तरह चमकता रहे..

भारतीय युवा, जाति धर्म से अलग केवल राष्ट्र हित मे बात करे!

सोचे ही नहीं उठे और तब तक प्रयास करे जब तक लक्ष्य प्राप्ति हो जाए,जब तक अंदर की आवाज साथ नहीं देती, कोई कार्य सार्थक नहीं होता है
मन, दिमाग के साथ कार्य में लीन हो
आज का युवा स्वतंत्र है, बेरोजगारी कम हो गयी, कयी अवसर प्राप्त है, जो युवा वर्ग को अवसर प्रदान कर उनकी जिंदगियों में विकास की सीमा बड़ा रहा है !
कई बुजुर्ग में आज भी युवा जिंदा है, और युवा कुछ बुजुर्ग हो गए है, जबकि अपने अंदर के युवा को पोषण देने के साथ, सही आदतों के साथ, अच्छे परिवर्तन को अपना कर आगे बड़े !
स्वामी विवेकानंद जी से बढ़कर
युवा वर्ग के लिए कोई प्रेरणा स्त्रोत हो नहीं सकता!
चलिए कसम ले राष्ट्र हित मे आखिरी साँस तक क्रियाशील और गतिमान रहेंगे और उनके सपनों के युवा बनेंगे
युवा सामर्थ्यवान है, बस अपनी शक्ति पहचाने…
धन्यवाद
जय हिंद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *