देवदूत बनाकर सामने आ रहे हैं सामाजिक संगठन

सरल संवाद।एमआईसी संगठन ने किया लगभग 2500 कोविड मामलों का समाधान

कोरोना के संक्रमण काल में वर्तमान स्थितियाँ गंभीर बनी हुई है। पूरा देश इस समय कोरोना महासंकट की दूसरी लहर से जूझ रहा है। जहाँ एक और सभी डॉक्टर्स और स्वास्थ्य कर्मचारी जी-जान से कोशिश कर रहे हैं लोगों की जान बचाने की वहीं दूसरी ओर कालाबाजारी का आतंक मचा हुआ है। ऐसे कठिन समय में देश भर में कई निजी संस्थान अपने-अपने स्तर पर सहायता के लिए आगे आ रहे हैं।

इंदौर का माइक संगठन भी उन्ही संगठनों में से है, जो इंदौर में आशा की किरण बनकर सामने आया है। माइक संगठन कोरोना पीड़ितों तथा उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं के मध्य सेतु का कार्य कर रहा है। एमआईसी केवल इंदौर ही नहीं वरन पूरे देश में राष्ट्रीय स्तर पर जानकारियां उपलब्ध कराने के लिए निरंतर प्रयास कर रहा है। जिसमें इस समय 150 से भी ज्यादा कार्यकर्ता दिन रात लगे हुए हैं।

सभी मिलकर औसतन प्रतिदिन 40 से 50 मरीजों को बेड उपल्ब्ध करवाते है। साथ ही 40 से 50 ऑक्सिजन सिलेंडर भरवाते है। दिन में 12 से 15 प्लाज्मा के अलग-अलग मामलों की जांच करके उन्हें प्लाज्मा उपलब्ध कराया जा रहा है।
हर एक मामले की पूरी जांच कर सत्यापित जनकारी उपलब्ध करवाई जा रही है।
उपलब्ध हुईं जानकारी को स्त्यापित कर टीम के सदस्य अपने संपर्क में आगे बढ़ाते हैं।
इस प्रकार लगातार 10 तक दिन रात मेहनत करके पूरे संगठन ने प्रदेश और राष्ट्रीय स्तर पर लगभग 2500 मामले हल किए हैं।

मध्य प्रदेश में इंदौर, भोपाल, हरदा, होशंगाबाद, खरगोन, बालाघाट, जबलपुर, रीवा, सागर उज्जैन, देवास, छतरपुर तथा राष्ट्रीय स्तर पर पटना, दिल्ली और लखनऊ में मुख्य रूप से अस्पतालों में ब्लड एवम् प्लाज्मा, ऑक्सीजन की व्यवस्था, आईसीयू बेड की उपलब्धता की जानकारी और साथ ही समस्त आवश्यक दवाओं और इंजेक्शन की पूरी जानकारी मुहैया कराने में पूरी तरह संलग्न है।

संस्था के दीप अग्रवाल, दुष्यंत, शिवानी शर्मा, शरद मेहता, अमन अग्रवाल, समीर पुरोहित , गौरव मोदी, भूमि जैन और अन्य साथी अपने सभी संपर्क सूत्रों के द्वारा जन सेवा में कड़ी मेहनत कर रहें है तथा सही और सत्यापित जानकारी माइक के सभी सोशलमीडिया माध्यमों से उपलब्ध कराई जा रही है। माइक संगठन की फाउंडर रूपांशी श्रीवास्तव बताती हैं कि हमारी पूरी टीम आमजन की सेवा में 24 घंटे निरंतर कार्यरत है। टीम के अथक प्रयास से अभी तक हमने कोरोना के लगभग 2500 मामले हल करने में सफल हुए हैं और लगातार ज़रूरत मंदों को सहायता पहुंचा रहें है। कोरोना पीड़ितों के सहायता के लिए या किसी भी महत्वपूर्ण जानकारी के लिए सीधे हेल्पलाइन नंबर(8959228549) पर संपर्क कर सकते हैंl आगे वे कहती हैं कि हमारी एकता ही हमारी शक्ति है। जो हमें कोरोना से जीतने मे मदद करेगी। साथ ही उन्होंने 1 मई से होने वाले टीकाकरण अभियान में टीका लगवाने से पहले सभी जागरूक युवाओं से रक्तदान करने की अपील की है, जिसने आने वाले 2 महीनों में रक्त की आपूर्ति की जा सके। संस्था के ये कारगर प्रयास जनमानस के लिए जीवनदायी सिद्ध हो रहें है।

केस 1: आगरा से नासिक जा रही एम्बुलेंस में मरीज को रात्रि 11 बजे ऑक्सिजन की ज़रूरत पड़ी। जिसकी व्यवस्था एम आई सी द्वारा की गई।

केस 2: इंदौर जिले के रहवासी जिनके बेटे यूएस में है। उनकी सारी व्यवस्था जैसे एम्बुलेंस, दवाई, ऑक्सिजन आदि की व्यवस्था की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *